भारत में गणतंत्र दिवस का महत्व और उससे जुड़ी रोचक बातें

तो हेलो दोस्तों कैसे हैं आप लोग दोस्तों आज हम लोग बात करने जा रहे हैं। अपनी गणतंत्र दिवस के बारे में दोस्तों गणतंत्र दिवस जिस दिन हमारा देश आजाद हुआ था दोस्तों 15 अगस्त 1947 को जीवन का संदेश लेकर स्वर्ण रथ भारतीय धरती पर उतरा और 26 जनवरी 1950 को भारत संपूर्ण तरीके से राष्ट्रीय घोषित कर दिया गया। दोस्तों शत शत नमन है उन अमर शहीदों को जिन्होंने देश की आजादी के लिए हंसते-हंसते अपने जीवन की कुर्बानी दे दी दोस्तों हमारे देश के आजादी के पीछे कई हजार लोगों की मेहनत है जिनकी वजह से आज हम स्वतंत्र देश में रहकर अपनी जिंदगी के मजे ले रहे हैं।

दोस्तों हमारे देश के वीरों ने गुलामी की जंजीरों को तोड़ कर आजादी का सूरज का जीवन प्रकाश लेकर आया तथा आशा और आकांक्षा के करोड़ों दीपक जल उठे दोस्तों 26 जनवरी की इस राष्ट्रीय पर्व पर सार्वजनिक अवकाश होता है। दोस्तों देश के कोने-कोने से झांकियां निकलती हैं और एक जगह पर बहुत ही सुंदर प्रदर्शन होता है इन सब जातियों का दोस्त हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी भी उस जगह पर मौजूद होते हैं कुछ जगह सम्मान बढ़ाने के लिए दोस्तों झांकी निकलती हैं। इसके बाद परेड भी होती है और ऐसे बहुत सारे चमत्कार ही काम वहां होते हैं जो कि कोई इंसान नहीं कर सकता दोस्तों। दोस्तों हमारे देश के नौजवान ऐसे ऐसे करतब दिखाते हैं जो कि दिखाने किसी के बस की नहीं है।

26 जनवरी के समारोह में अलग-अलग राज्यों की संस्कृति कला कौशल आदि संबंधित खूबसूरत झांकियां पेश की जाती है साथ ही इस अवसर पर अनेक संस्कृतियों कार्यक्रम भी आयोजित किए जाते हैं और दोस्तों आखरी में इस कार्यक्रम को सम्मान देते हुए विमानों की उड़ान होती है। शाम कार्यक्रम को देखने के लिए बहुत ही सारे लोग वहां पर इकट्ठा होते हैं और दोस्त सुबह सुबह यह परेड कोई पूरा कार्यक्रम टीवी पर लाइव प्रदर्शित किया जाता है जो कि सुबह सुबह 6:00 बजे से ही स्टार्ट हो जाता है दोस्तों चाय बारिश हो चाहे कुछ हो लेकिन हमारे देश के नौजवान यह कार्यक्रम करते ही करते हैं। चाहे कितने भी मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा क्योंकि दोस्तों वही है परेड रिप्रोग्राम अपने देश के सम्मान के लिए कर रहे होते हैंदोस्तों यह राशि पर स्कूल कॉलेज कस्बों गांवों तथा नगरों में हर जगह मनाया जाता है। इस अवसर पर एनसीसी की विभिन्न शाखाएं स्काउट गाइड सेना पुलिस रात रक्षा दल आदि की परेड निकलते हुए जवानिया निवास दिलाते हैं कि देश की नई पीढ़ी भी देश का भार उठाने के लिए तैयार है और दोस्तों यह नजारा इतना खूबसूरत हो जाए कि कोई भी उसने को देखकर आकर्षित हो जाता है। दोस्तों सच में हमारे देश के नौजवान बहुत ही सुंदर प्रदर्शन करते हैं।

अपने देश के लिए और दोस्तों उससे पहले हमारे देश के वीरों ने जो कारनामा कर दिखाया था हमारे देश को आजाद कराया था महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू। दोस्त सारे अनेक नाम है जो मैं आपको अभी बता भी नहीं सकता सारे नाम तो मुझे भी याद नहीं होंगे इतने सारे वीरों ने हमारे भारत देश को अंग्रेजो की गुलामी से आजाद कराया और दोस्तों आज हमारा भारत देश अपना झंडा शान से इंग्लैंड की सरजमी पर ले रहा है दोस्तों जैसे कि आप सब जानते हैं कि वर्ल्ड कप चल रहे हैं। और दोस्तों इंडिया का सपोर्ट वर्ल्ड कप की मैच में इंग्लैंड सपोर्टर से कई गुना ज्यादा है मैदान में सिर्फ भारतीय तिरंगा लहरा रहा है जो भी साबित करता है कि हमारा देश कितनी तेजी से प्रगति कर रहा है तो दोस्तो आखिर में मैं यही कहना चाहूंगा जय हिंद वंदे मातरम।

हमारे प्यारे देश भारत से जुड़ी कुछ रोचक बातें

दोस्तों आज बात करने जा रहे हैं अपनी हिंदुस्तान के बारे में जी हां दोस्तों अपने हिंदुस्तान के बारे में। दोस्तों सारे जहां से अच्छा हिंदुस्ता हमारा। दोस्तों हमारे हिंदुस्तान एक बहुत ही सुंदर देश है दोस्तों भारत प्रगति की मनोरम गोद में बसा हुआ है दोस्तों भारत जैसे शुद्ध और पवित्र देश में भूतिया चीजें हैं जो कि देखने में बहुत ही ज्यादा खूबसूरत लगती हैं। दोस्तों हिमालय भारत मां का मुकुट है दोस्तों गंगा यमुना उसके गले का हार हैं दोस्तों विद्यांचल उसकी कमर है तो कन्याकुमारी उसके चरण हैं भारत को पुरातन युग में आर्यवर्त नाम से पुकारा जाता है उस समय यह सोने की चिड़िया नाम से भी अपनी पहचान बनाए हुए था।

दोस्तों हमारा देश सोने की चिड़िया के नाम से बुलाया जाता था अंग्रेजो ने हमारे देश से इतना सोना चुराया नाम ही बदल गया राजा दुष्यंत के पुत्र भरत के नाम पर ही हमारे देश का नाम भारतवर्ष पड़ा है। यह बहुत ही गर्व की बात है हमारे लिए एक ही ऐसा देश है। जहां पर एक एक कर आती हैं और अपनी विशेषताओं से इस देश की धरती का मनमोहक बन जाती हैं दोस्तों हमारी भारत माता आज के समय में 130 करोड़ संतानों को अपने कलेजे से लगाए हुए हैं। यहां के लोग इतने देहरे शाली है कि अपने विरोधी का भी आदर करना जानते हैं भारत का अतीत अत्यंत गौरवशाली है जिसकी स्मृति मात्र से ही उनका संचार होने लगा है। यहां के लोग धैर्य शाली है कि अपने विरोधी का भी आदर करना जानते हैं दोस्तों हिंदुस्तान के हर एक व्यक्ति को यह कहते हुए सुना जा सकता है सारे जहां से अच्छा हिंदुस्तान हमारा।

दोस्तों भारत देश में विभिन्न विभिन्न प्रकार के प्राकृतिक घटनाएं होती हैं कहीं सूखा पड़ता है तो कहीं ऊंची चोटियां है फिर भी सभी प्रांत राम रहीम मंदिर मस्जिद संविधान कानून को मानते हैं। दोस्तों भारत देश में सभी प्रकार के कानूनों को माना जाता है और इस देश में भिन्न-भिन्न प्रकार की वस्तुएं भी मिलती हैं जो कि काफी आकर्षक होती हैं दोस्तों चीन तथा अरब राज को कर्म ज्योतिष तथा गणित का ज्ञान भारत की देन है ऐसे पावन धरती है। जहां द्रोपती , सीता, सावित्री जैसी नारियों ने जन्म लेकर अपने कर्मों से इस धरती को पवित्र कर दिया है। दोस्तों भारत देश एक बहुत ही सुंदर देश है जहां पर आप को कई तरह के अलग अलग पक्ष में भी देखने को मिलेंगे जो कि काफी सुंदर होते हैं और जब आप उनको देखते हैं तो आपकी नजर कहीं और जा ही नहीं सकती दोनों।

दोस्तों इसी के साथ भारत देश में कई तरह की अन्य की वस्तुएं भी मिलती है जो कि आपको किसी और देश में नहीं सकती दोस्तों मेरे पास हमारे देश की अच्छाई करने के लिए इतना सब कुछ है कि मैं इन्हें कुछ शब्दों में बयान ही नहीं कर सकता। मैं चाहूं तो इनके ऊपर तो पूरी किताब लिख सकता हूं पर दोस्तों भारत संसार का सबसे बड़ा गणतंत्र है। दोस्तो हमारे भारत देश के गणतंत्र में तो बड़ी से बड़ी सरकार को उड़ने की शक्ति है दोस्तों हमारे भारतवर्ष के लोग कुछ भी कर सकते हैं।

हमारे भारत में खेलों को बहुत ज्यादा महत्व दिया जाता है। दोस्तों हमारा नेशनल गेम हॉकी है लेकिन दोस्तों के साथ हमारे देश के 130 करोड़ लोग क्रिकेट को भी उतना ही पसंद करते हैं जितना कि हम हॉकी को पसंद करते हैं बल्कि कह सकते हैं कि हमारे देश में हॉकी से ज्यादा तो आपको मिल जाएंगे। इसलिए हैं जो कि हर खेल को पसंद करते हैं और हर खेल खेलते हैं और अपना झंडा लहराते हैं दोस्तों मेरा भारत महान।

किसी देश को मज़बूत बनाने के लिए कितनी जरूरी है राष्ट्रीय एकता

तो हेलो दोस्तों कैसे हैं आप लोग दोस्तों आज हम बात करने जा रहे हैं अपने भारत की राष्ट्रीय एकता के बारे में। दोस्तों एक तो वह शक्ति है जो संपूर्ण देश को एक सूत्र से बांधती है और अपार शक्ति का स्वरूप निबंध करती है दोस्तों एकता हमारे देश के लिए हमारे जीवन के लिए एकता हर जगह पर काम आती है। अगर व्यक्ति में एकता नहीं है तो उसको बर्बाद होने में ज्यादा समय नहीं लगेगा जहां एकता होती है वही शक्ति होती है, वैभव होता है, शांति होती है, सुख समृद्धि होती है, संतोष होता है। दोस्तों हमारे यहां राष्ट्रीय एकता को सदैव महत्वपूर्ण माना गया है दोस्तों अगर राष्ट्र एकता है तो हम कुछ भी कर सकते हैं और कितनी ही बड़ी चुनौती को टक्कर दे सकते हैं। राष्ट्रीय एकता के लिए हमारे प्रति प्रेम श्रद्धा समर्पण की भावना का होना आवश्यक है शहीद और कला राष्ट्रीय एकता के निर्माण में सफल भूमिका ग्रहण करते हैं। दोस्तों अगर व्यक्ति में एकता है तो वह बड़े से बड़े चुनी चुनौती को मात दे सकता है हमारे चार मठ राष्ट्रपति एकता के प्रतीक हैं।

इसी क्रम में हमारे पर्व उत्सव त्योहार दशहरा होली दीपावली गणतंत्र दिवस आदि संपूर्ण देश में मनाए जाते हैं हमारी परीक्षा की घड़ियां हमारे राष्ट्रीय एकता कितना बनती है यह हमारे ऊपर आए संकट के क्षणों में स्पष्ट हो चुका है दोस्त अगर हम राष्ट्रीय एकता को बनाए रखेंगे तो हमारा देश की तरक्की बहुत ही जल्दी होगी और यह हमारे देश के लिए बहुत ही अच्छा है। दोस्त राष्ट्रीय एकता मारे देश के लिए बहुत जरूरी एकता में सब कुछ तो सिर्फ देश में ही नहीं हमारे घर में हर गली में हर इंसान के बीच में एकता होनी चाहिए। इंसान के बीच में एकता होगी तो वह किसी भी परिस्थिति का सामना कर सकता है दोस्तों एकता में बहुत शक्ति होती है अगर किसी मनुष्य में एकता है तो वह हर किसी से अच्छे से बात करेगा और हर कोई उससे प्यार करेगा और उसकी किसी भी परेशानी में कोई भी उसकी मदद करने को तैयार हो जाएगा तो उसे बहुत ही अच्छी बात है।

हमको हर किसी की मदद करनी चाहिए दोस्तों अगर आप अकेले हैं और आपकी लड़ाई हो जाए तो आपको कोई बचाने नहीं आया और कोई भी आप को धोकर चला जाएगा लेकिन दोस्तों अगर आप में एकता है तो आपके हजारों दोस्त आपकी मदद के लिए हाजिर हो जाएंगे और आपको कोई हाथ भी नहीं लगा पाएगा। जो की बहुत ही अच्छी बात है गांधी जी ने भी यही कहा है की हिंसा से बात करो तभी तो देश का भला होगा दोस्तों लेकिन आजकल की जनरेशन कुछ ऐसी है क्यों उसको जहां पर भी मौका मिलता है वह बस लड़ाई करने के लिए चल देते हैं जो की बहुत गंदी बात है।

दोस्तों अगर आपको एकता बनाकर चली है तो आप को सबसे अच्छे तरीके से बात करनी होगी तभी लोग आपकी बात से संतुष्ट होंगे और आपकी हर बात को मानेंगे तो दोस्तों सबसे एकता बनाकर रखनी चाहिए हमको दोस्तों एकता में बहुत शक्ति होती है राष्ट्रीय एकता भी उतनी ही महत्वपूर्ण है हमारे राष्ट्रीय एकता का सदैव महत्वपूर्ण माना गया है दोस्तों क्योंकि यह बहुत ही ज्यादा जरूरी है। यह एकता हमारे देश में बराबर रही है और आज भी हैदोस्तों हमें अपने देश की एकता को बनाए रखना होगा तभी हमारा देश तरक्की करेगा और दुनिया में अपना परचम लहराएगा तो दोस्तों एक तो हमारे देश को आगे बढ़ा सकती है पंडित जवाहरलाल नेहरू के अनुसार यह एकता हमारी ताकत है संस्कृति है एकता है तो हम हैं वही संसार है जो हमें एकता से बंधन में बांधता है।

आइए जानते है हमारी राष्ट्रीय भाषा हिंदी के बारे में कुछ रोचक बातें

तो हेलो दोस्तों कैसे हैं आप लोग दोस्तों आज हम बात करने जा रहे हैं अपनी राष्ट्रीय भाषा के बारे में। दोस्तों भारत के संविधान में राष्ट्रभाषा के रूप में हिंदी को स्वीकार किया गया है। दोस्तो हमारे भारत देश में हिंदी हमारी राष्ट्रभाषा कहलाती है जिसकी लिपि देवनागरी है हिंदी को यह गौरव हिंदी भाषाओं की संख्या अधिक होने के कारण प्राप्त हुआ साथ ही है बोलने व सीखने में भी अन्य अनेक भारतीय भाषाओं की अपेक्षा सरल है। इसका उल्लेख संविधान के अनुच्छेद 343 में किया गया हैदोस्तों सबसे पहले स्वामी दयानंद सरस्वती ने भविष्य में भारत को राष्ट्रभाषा के रूप में हिंदी की कल्पना की उनके पश्चात महात्मा गांधी ने भी हिंदी में ही समस्त आंदोलन का सूत्र पात्र किया लगभग 1000 वर्षों में हिंदी भारत की संस्कृति कहलाने लगी थी। हिंदी भाषा का सहित अब अन्य भाषाओं की अपेक्षा कहीं अधिक संपन्न है दोस्तों दादू कबीर नानक शोर तुलसी व जायसी जैसे कथा मनुष्य को अमृतवाणी ने संस्कृत हलाहल को आत्मा साथ करने का भी सराहनीय कार्य इसी भाषा के माध्यम से मिला है।

दोस्तों हिंदी भाषा हमारे देश की सबसे लोकप्रिय भाषा है और दोस्तों हम भारत में हर जगह सिर्फ हिंदी भाषा ही सुनेंगे दोस्तों हिंदी भाषा हमारी राष्ट्रभाषा है जिसकी हमें चाहिए। हमें अपनी हिंदी भाषा की इज्जत करनी चाहिए साथ ही अपनी भाषा को बढ़ावा देना चाहिए तो कई लोग ऐसे होते हैं जो कि भारत में रहते हैं और सिर्फ अंग्रेजी भाषा का ही प्रयोग करते हैं। जो कि बहुत ही गलत बात है। दोस्तों विदेशी लोग अपनी भाषा से बहुत प्रेम करते हैं और वह जब तुम बाहर जाते हैं तो भी अपनी ही भाषा बोलते हैं लेकिन इंडियंस पता नहीं क्यों अपने देश में भी अपनी भाषा को बोलने में शर्माते हैं और वह हिंदी भाषा पर ज्यादा ध्यान देते हैं दोस्तों राष्ट्रभाषा के रूप में हिंदी के समक्ष अनेक कठिनाइयां आती रही हैं जिनके कारण हिंदी को राष्ट्रभाषा का वास्तविक गौरव अभी तक प्राप्त नहीं हो सका है। अंग्रेजी आज भी केंद्र सरकार में उच्चतम न्यायालय कामकाज की भाषा बनी है दोस्तों आप देखेंगे कि इंग्लिश का प्रयोग होता है ऐसे लोग हैं जो कि हिंदी को अपनी अब तो हिंदी को राष्ट्रभाषा बनाने का प्रयास किया जाने लगा है अनेक विश्व हिंदी सम्मेलन का आयोजन विश्व में विभिन्न क्षेत्रों में किया जा चुका है। जबकि दोस्तों बहुत ही ज्यादा अच्छी बात है भारत के तत्कालीन विदेश मंत्री अटल बिहारी वाजपेई ने पहली बार राष्ट्रीय संसद में अपनी ओजस्वी वाणी में हिंदी में भाषण देकर भारत का राष्ट्रपति गोरखपुर या था ज्योति बहुत अच्छी बात है।

दोस्तों जितने ज्यादा हम अपनी भाषा से प्रेम करेंगे उतना ही हम अपने देश से भी प्रेम करते हैं इसका मतलब यह है इसलिए दोस्तों मेरी आपसे गुजारिश है कि आप हर समय भारत में हिंदी भाषा का ही प्रयोग करें भरे दुख से जवाब बाहर जाते हैं तो आप अंग्रेजी बोलते हैं लेकिन दोस्तो जब तक आप भारत में है। आपको हिंदी भाषा का ही प्रयोग करना चाहिए दोस्तों हिंदी भाषा एक बहुत ही अच्छी भाषा है जिससे आप बहुत सारा ज्ञान प्राप्त कर सकते हैं और अपनी नॉलेज को भी बढ़ा सकते हैं दोस्तों हमको हिंदी भाषा से ही प्रेम करना चाहिए और कहीं पर भी हिंदी बोलने में शर्माना नहीं चाहिए दोस्तों मैंने देखा है। बहुत से लोग हिंदी बोलने में शर्माते हैं। अपने देश में हो अंग्रेजों के सामने हिंदी बोलने में शर्माते हैं जो कि बहुत गलत बात है वह आप की राष्ट्रभाषा है और आपको उसकी सम्मान देना चाहिए तो दोस्तों हमें संकल्प लेते हैं कि हम अपनी राष्ट्रीय भाषा को बोलने में कभी नहीं कराएंगे और खुलकर अपनी राष्ट्रभाषा का प्रयोग करेंगे क्योंकि दोस्तों हिंदी ही हमारी राष्ट्रीय भाषा है।

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के जीवन से जुड़ी कुछ रोचक बातें

तो हेलो दोस्तों कैसे हैं आप लोग दोस्तों आज हम बात करने जा रहे हैं महात्मा गांधी जी के बारे में। दोस्तों बीसवीं शताब्दी को जिस अनोखे महापुरुष ने सबसे अधिक प्रभावित किया वह थे। महात्मा गांधी दोस्तों भले ही आज धरती पर नहीं है किंतु सत्य अहिंसा और प्रेम के सिद्धांतों पर आधारित उनका संदेश आज भारत की सीमाओं से निकलकर सारे संसार को जीवित कर रहा है। दोस्तों अहिंसा के पुजारी और करुणा के अवतार महात्मा गांधी का जन्म 2 अक्टूबर 2016 को गुजरात प्रदेश के पोरबंदर नामक स्थान पर हुआ था। उनका पूरा नाम मोहनदास करमचंद गांधी था पिता का नाम करमचंद गांधी था और माता का नाम पुतलीबाई था। गांधी जी की माता धनिष्ठा और साधु स्वभाव की महिला थी। माता की आवश्यकता और सत्यता की गहराई छाप गांधीजी को प्रेरणा दिया करती थी।

दोस्तों गांधीजी ने अपनी शिक्षा राजकोट मैं करी जहां पर उनके पिता दीवान थे दोस्त गांधी जी अपने बचपन से ही सत्य और अहिंसा के पुजारी थे वह पढ़ाई पर ज्यादा ध्यान नहीं दे पाते थे। उनका ध्यान खेलकूद में ज्यादा रहता था। दोस्तों 13 वर्ष की आयु में गांधी जी का विवाह कस्तूरबा के साथ हो गया था। इसी वर्ष उन्होंने मैट्रिक की परीक्षा उत्तीर्ण की और कानून की शिक्षा ग्रहण करते हुए इंग्लैंड चले गए भारत लौटने पर उन्होंने अपनी वकालत आरंभ की और एक मुकदमे के संबंध में दक्षिण अफ्रीका गए। दोस्तों गांधी जी ने दक्षिण अफ्रीका में जाकर बहुत तरह के काम किए और गांधीजी दक्षिण अफ्रीका में काफी लोकप्रिय हो गए थे दक्षिण अफ्रीका वालों ने गांधी जी का स्वागत किया और गांधीजी भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के वीर सेनानी बन गए। दोस्तों गांधीजी ने भारत की स्वतंत्रता के लिए देशव्यापी आंदोलन छेड़ दिया उन्होंने चरखे को स्वतंत्र का प्रतीक बनाया और अहिंसा को इस आंदोलन का अस्त्र दोस्तों गांधी जी ने बहुत सारे ऐसे काम किए जो कि कोई और नहीं कर सकता था। उनका कहना यह था कि अहिंसा से ही हम अपने देश को अंग्रेजों से वापस ला सकते हैं गांधीजी ने यही किया गांधीजी ने हिंसा न करते हुए अहिंसा के मार्ग पर चलें और अपने भारत देश को अंग्रेजों से आजाद करवाया।

दोस्तों गांधी जी ने हमारे देश को आजाद करने के लिए कई तरह के आंदोलन भी किएजिससे वह अलग-अलग जगह पर जाते थे और आंदोलन प्रस्तुत करते थे। जिससे वहां की गवर्नमेंट को उनकी बात माननी पड़ती थी नहीं तो वह कई कई दिनों तक कुछ नहीं खाते थे। गांधी जी को ईश्वर में अटूट विश्वास था सत्य को उन्होंने ईश्वर का ही दूसरा नाम बताया था। धर्म को उन्होंने सदाचार का नाम लिया और धर्मों से संभव पैदा करने के लिए सत्याग्रह का सहारा लिया। दोस्तों गांधीजी एक बहुत ही महापुरुष आदमी थे आप सभी उनके बारे में अच्छे से जानते होंगे और जानना भी चाहिए क्योंकि महात्मा गांधी यही इतने अच्छे इंसान दोस्तों हमारे देश के नोटों पर भी उनकी तस्वीर आती है जो की बहुत बड़ी बात है। अपने आप में गांधीजी ने भारत देश के लिए इतना कुछ किया है तो यह तो होना ही था।

दोस्तों जब गांधीजी साउथ अफ्रीका में गए थे तो वहां कि भारतीय राजनीति उनका स्वागत करने के लिए तैयार खड़ी थी इससे हम समझ सकते हैं कि सिर्फ भारत में ही नहीं और भी जगह पर गांधीजी की कितनी इज्जत थी। दोस्तों गांधीजी ने भारत की सुरेंद्र के लिए देशव्यापी आंदोलन छेड़ दिया उन्होंने चरके को शुद्धता का प्रतीक बताया और अहिंसा को इस आंदोलन का अस्त्र स्वतंत्रता आंदोलन के कर्मठ सिपाही को अनेक बार जेल यात्रा करनी पड़ी। दोस्तों गांधीजी को कई बार जेल भी जाना पड़ा लेकिन उनका विश्वास था और उन्होंने अपनी इसी जज्बे को लेकर भारत को आजाद करवाया।